Skip to content
Mantra Jap se Shastra Gyan: Ram Valabh Sharan- HanumanJi Samvad
Mantra Jap se Shastra Gyan: Ram Valabh Sharan- HanumanJi Samvad
स्वामी अखंडानंद जी सरस्वती संत ‘जानकी’ घाटवाले बाबा के दर्शन करने के लिए जाते थे । उन्होंने अखंडानंदजी (ये अपने आश्रम में भी आये थे) को यह घटना बतायी थी कि रामवल्लभशरण इतने महान पंडित कैसे हुए ? रामवल्लभशरण किन्हीं संत के पास गये । संत ने पूछाः “क्या चाहिए ?” रामवल्लभशरणः “महाराज ! भगवान श्रीराम की भक्ति और शास्त्रों का ज्ञान चाहिए ।” ईमानदारी की माँग थी । सच्चाई
Read More
Who was Sant Telang Swami that lived for 280 Years?
Who was Sant Telang Swami that lived for 280 Years?
महात्मा तैलंग स्वामी दक्षिण भारत में विजना जनपद के होलिया ग्राम में सन् 1607 में पौष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को इस धरा पर अवतरित हुए । उनके पिता श्री नृसिंहधर गाँव के जमींदार थे और माता विद्यावती भगवान शंकर की अनन्य भक्त थीं । स्वामीजी के जन्म से पूर्व उनकी माता को सपने में कभी-कभी भगवान शंकर दिखाई देते थे । नामकरण संस्कार के समय बालक का
Read More
Mala Pujan Kaise Kare? Vidhi, Mantra, Prarthna
Mala Pujan Kaise Kare? Vidhi, Mantra, Prarthna
मंत्र सिद्धि का अचूक उपाय :- जपमाला पूजा शास्त्रों के अनुसार जपमाला जाग्रत होती है, यानी वह जड़ नहीं, चेतन होती है। माना जाता है कि देव शक्तियों के ध्यान के साथ हाथ, अंगूठे या उंगलियों के अलग-अलग भागों से गुजरते माला के दाने आत्मा ब्रम्ह को जागृत करते हैं। इन स्थानों से ‘दैवीय उर्जा’ मन व शरीर में प्रवाहित होती है। इसलिए यह भी देवस्वरूप है, जिससे मिलनेवाली शक्ति
Read More
Pujya BapuJi Ke Prerak Jeevan Prasang by Sadhvi Rekha Behan
Pujya BapuJi Ke Prerak Jeevan Prasang by Sadhvi Rekha Behan
पूज्य बापूजी के जीवन प्रेरक-प्रसंग ….. साध्वी रेखा बहन, जिन्होंने 1992 से बापूजी का सान्निध्य पाया है, उनके द्वारा बताया गया पूज्यश्री का मधुर जीवन-प्रसंग : मंत्रमूलं गुरोर्वाक्यम् ….. हिसार (हरि.) में एक 14-15 साल के बच्चे के सिर के पूरे बाल झड़ गये थे, गंजा हो गया था । पूज्य बापूजी का वहाँ सत्संग था । वह टोपी पहनकर पूज्यश्री के सामने आया और सिर नीचे करके बैठा था
Read More
Coconut Significance in Puja [Nariyal Shubh Kyu]
Coconut Significance in Puja [Nariyal Shubh Kyu]
What is the spiritual meaning of coconut? Coconut for Puja Importance in Hindi: अपना सिर अर्पण करने का प्रतीक है नारियल । यह अर्पण करना अर्थात् अपना अहं, अपनी मनमुखता अर्पण करना ।” वही नारियल आज मठ-मंदिरों में भगवान व गुरुओं को चढ़ाया जाता है । अपना सिर अर्पण करने का प्रतीक है नारियल । यह अर्पण करना अर्थात् अपना अहं, अपनी मनमुखता अर्पण करना ।” नारियल को शुभ, समृद्धि,
Read More

Categories

open all | close all