fbpx
Skip to content
freedom fighter played role as Gau Rakshak
Freedom Fighters Played Role as “Gau Rakshak”
भारत में गौहत्या विशेषकर अंग्रेजों का शासन स्थापित होने पर शुरू हुई । यहाँ पहले गौहत्या न के बराबर ही होती थी लेकिन अंग्रेजों ने इसे बढ़ावा दिया । भारत में स्वतंत्रता के बीज का अंकुरण गौ के कारण ही हुआ । 1857 ई. में जब अंग्रेज सरकार ने कारतूसों में गाय की चरबी का प्रयोग शुरू किया तो गौभक्त भारतीय सिपाही यह सहन न कर पाये कि विदेशी विधर्मी
Read More
Gau raksha me hai manavata, swasthya v sanskriti ki raksha
Gau Raksha: Saving Humanity, Health & Culture
-पूज्य बापूजी गाय की रक्षा करने वाले हम कौन होते हैं ? अरे ! गाय तुम्हारी-हमारी और पर्यावरण की रक्षा करती है । चौरासी लाख प्राणी हैं किंतु देशी गाय के अलावा किसी का मल और मूत्र पवित्र नहीं माना जाता । चाहें कोई महाराजा हो, ब्राह्मण हो या तपस्वी हो फिर भी उसका मल-मूत्र लीपने के काम नहीं आता । जब कोई व्यक्ति मरने की स्थिति में होता है
Read More
why indian desi cow is called gau mata of india and world
Why Indian Desi Cow is Called as Gau Mata of India and World
Know Why Cow is called Gau Mata/ Mother in Hindi.  Why do hindu worship cow?  हम गाय की सेवा करेंगे तो गाय से हमारी सेवा होगी । सेवक कैसा होना चाहिए इस पर विचार करने से लगता है कि सेवक के हृदय में एक मधुर-मधुर पीड़ा रहनी चाहिए और उत्साह रहना चाहिए, निर्भयता रहनी चाहिए एवं असफलता देखकर उसे कभी भी निराश नहीं होना चाहिए । सेवक से सेवा होती
Read More
importance of Indian desi cow
Advantages/ Importance of Indian Desi Cow [देसी गाय]
भारतीय गायें विदेशी तथाकथित गायों की तरह बहुत समय तक जंगलों में हिंसक पशु के रूप में घूमते रहने के बाद घरों में आकर नहीं पलीं, वे तो शुरू से ही मनुष्यों द्वारा पाली गयी हैं । भारतीय गायों के लक्षण हैं उनका गल-कम्बल (गले के नीचे झालर-सा भाग), पीठ का कूबड़, चौड़ा माथा, सुंदर आँखें तथा बड़े मुड़े हुए सींग । भारतीय गोवंश की कुछ प्रमुख नस्लें हैं गिर,
Read More
Bharat Kalyan k liye Gau Raksha Anivarya
Madan Mohan Malviya Quotes Sayings for “Gau Rakshak” [Gau Seva]
– पं. मदनमोहन मालवीयजी आप जानते हैं कि भारत के कल्याण के लिए गौ-रक्षा अनिवार्य है । संसार का जो उपकार गौमाता ने किया है, उसके महत्व को जानते हुए भी लोग गौ की उपेक्षा करते हैं और गौ-रक्षा के प्रश्न पर ध्यान नहीं देते । यह उनका भ्रम (बेहोशी) और अन्याय है । जो लोग गोवध करते हैं अथवा गोवध करना अपना धर्म समझते हैं उनके अज्ञान का ठिकाना
Read More

Categories

open all | close all