chini ke nuksan
Chini (Sugar) & Mithai (Sweets) Ke Nuksan (Health Side effects)
White Sugar (Chini) Khane Ke Nuksan || Mithai/Sweets/ Toffee Ke Health Side effects in Hindi : शक्कर या मिठाइयाँ खाने की लत बच्चों के स्वास्थ्य को बहुत हानि पहुंचाती है। इससे चिड़चिड़ापन, मोटापा, दाँतों में दर्द व सड़न होना आदि अनेक समस्याएँ पैदा होती हैं। इनके बदले बच्चों को ऐसे खाद्य पदार्थ दिये जाएँ जिनसे उन्हें प्राकृतिक शर्करा प्राप्त हो । जैसे किशमिश, खजूर, शुद्ध शहद, अंजीर आदि । इससे
घर पर ही तैयार करें ब्राह्मी घृत। How to Prepare Brahmi Ghrita ?
क्या आपको ब्राह्मी घृत नहीं मिल पाया ?तो क्या आप सूर्यग्रहण के इस विशेष योग का लाभ लेने से वंचित रह जायेंगे ??? नहीं… !!! निम्न विधि द्वारा आप अपने घर पर ही ब्राह्मी घृत तैयार कर सकते हैं । आइये सीखते हैं –आवश्यक सामग्री ( 100 ग्राम ब्राह्मी घृत बनाने के लिए )1. 100 ग्राम ब्राह्मी के सूखे पत्ते ( न मिलने पर ब्राह्मी चूर्ण भी उपयोग कर सकते हैं )2. वचा
kuch samanya rogo ke upay
पेट के कीड़े, दस्त, ज्वर (Fever) Ki Ayurvedic Medicine (Dawa)
१) पेट के कीड़े : पपीते के ४-५ बीज व थोड़ा पपीता ‘ संत कृपा चूर्ण ‘ डालकर प्रातः खाली पेट ५-७ दिन लें। साल में ऐसा २-४ बार करें। २) सामान्य ज्वर : १ काली मिर्च ५-७ तुलसी-पत्तों के साथ पीस के शहद के साथ दिन में १ बार चाटने से बच्चों का सामान्य ज्वर उतरेगा। ३) दस्त व अजीर्ण : बच्चों को इनसे बचाने के लिए कभी -कभी
World Environment Day
स्वास्थ्य व पर्यावरण रक्षक पेड़- Plants that Improves Health
अन्न, जल और वायु हमारे जीवन के आधार हैं । सामान्य मनुष्य प्रतिदिन औसतन १ किलो अन्न और २ किलो जल लेता है परंतु इनके साथ वह करीब १०,००० लीटर (१२ से १३.५ किलो) वायु भी लेता है । इसलिए स्वास्थ्य की सुरक्षा हेतु शुद्ध वायु अत्यंत आवश्यक है । प्रदूषणयुक्त, ऋण-आयनों की कमीवाली एवं ओजोन रहित हवा से रोगप्रतिकारक शक्ति का ह्रास होता है व कई प्रकार की शारीरिक-मानसिक
Ghamoriya home remedies
गर्मि घमौरियाँ इलाज, दवा, उपचार – Ghamoriya Home Remedies
गर्मियों के दिनों में त्वचा में पसीना सूखने से रोमकूप बंद हो जाते हैं। शरीर में छोटे-छोटे लाल दाने निकल आते हैं जिनमें खुजली होती है। उन्हीं को घमौरियां या अँधौरी कहते हैं। इनसे बचाव व उपचार हेतु निम्न प्रयोग लाभदायक हैं..~ (१) खोपरे ( नारियल ) के तेल में थोड़ा नींबू-रस मिलाकर मलने से घमौरियों व खुजली में लाभ होता है। (२) दूध में मुलतानी मिट्टी मिला के घमौरियों